Breaking

Saturday, 9 December 2017

टाइपिंग टेस्ट की तैयारी कैसे करे ?


टाइपिंग टेस्ट (Typing Test) की तैयारी करते समय आपको पता होना चाहिए की आपका टाइपिंग टेस्ट किस तरह से होने वाला है। ज्यादा तर जो टाइपिंग टेस्ट होते है उनके अंदर 35WPM की स्पीड मांगी जाती है और 95% की एक्यूरेसी मांगी जाती है। तो ऐसे टेस्ट के लिए आपको अपनी स्पीड के साथ साथ अपनी एक्यूरेसी पर भी बहुत ध्यान देना होता है। यदि आपको टाइपिंग बिलकुल भी नहीं आती है और आपने टाइपिंग सीखना अभी अभी शुरू किया है या शुरू करने वाले हो तो सबसे पहले आपको पूरा की-बोर्ड याद करना होता है उसका हर एक करैक्टर। उसके बाद आपको अपने हाथ की-बोर्ड पर ज़माने होते है ताकि आप बिना की-बोर्ड को देखे टाइपिंग कर सके। की-बोर्ड को याद करने के लिए और उस पर हाथ ज़माने के लिए आप किसी टाइपिंग सॉफ्टवेयर की सहायता ले सकते है।

इंटरनेट पर आपको टाइपिंग के बहुत से सॉफ्टवेयर मिल जायेगे और ऑनलाइन तैयारी के लिए वेबसाइट भी मिल जाएगी लेकिन आपको अपनी टाइपिंग टेस्ट की पूरी तैयारी इन सॉफ्टवेयर और वेबसाइट पर नहीं करनी है इनका उपयोग सिर्फ आपको की-बोर्ड को याद करने के लिए और उस पर अपने हाथ ज़माने के लिए करना है इनका उपयोग टाइपिंग सीखने की सुरुवात करने के लिए करना चाहिए।टाइपिंग टेस्ट (Typing Test) की तैयारी करते समय आपको पता होना चाहिए की आपका टाइपिंग टेस्ट किस तरह से होने वाला है। ज्यादा तर जो टाइपिंग टेस्ट होते है उनके अंदर 35WPM की स्पीड मांगी जाती है और 95% की एक्यूरेसी मांगी जाती है। तो ऐसे टेस्ट के लिए आपको अपनी स्पीड के साथ साथ अपनी एक्यूरेसी पर भी बहुत ध्यान देना होता है। यदि आपको टाइपिंग बिलकुल भी नहीं आती है और आपने टाइपिंग सीखना अभी अभी शुरू किया है या शुरू करने वाले हो तो सबसे पहले आपको पूरा की-बोर्ड याद करना होता है उसका हर एक करैक्टर। उसके बाद आपको अपने हाथ की-बोर्ड पर ज़माने होते है ताकि आप बिना की-बोर्ड को देखे टाइपिंग कर सके। की-बोर्ड को याद करने के लिए और उस पर हाथ ज़माने के लिए आप किसी टाइपिंग सॉफ्टवेयर की सहायता ले सकते है। इंटरनेट पर आपको टाइपिंग के बहुत से सॉफ्टवेयर मिल जायेगे और ऑनलाइन तैयारी के लिए वेबसाइट भी मिल जाएगी लेकिन आपको अपनी टाइपिंग टेस्ट की पूरी तैयारी इन सॉफ्टवेयर और वेबसाइट पर नहीं करनी है इनका उपयोग सिर्फ आपको की-बोर्ड को याद करने के लिए और उस पर अपने हाथ ज़माने के लिए करना है इनका उपयोग टाइपिंग सीखने की सुरुवात करने के लिए करना चाहिए।

की-बोर्ड (Keyboard) पर हाथ ज़माने के बाद जरुरत होती है टाइपिंग की स्पीड बढ़ने की। जब आप किसी टाइपिंग सॉफ्टवेयर या वेबसाइट पर टाइपिंग करते हो तो आपकी स्पीड बहुत ज्यादा आती है जैसे की मान लीजिये किसी टाइपिंग सॉफ्टवेयर या वेबसाइट पर आपकी टाइपिंग की स्पीड 40 से 45WPM के बिच में आती है और जब आप टाइपिंग टेस्ट देने जाते हो तब आपकी स्पीड 35WPM की भी नहीं आती है ऐसा इसी लिए होता है क्योकि ज्यादा तर जो टाइपिंग टेस्ट होते है उनके अंदर आपको एक A4 साइज के पेपर पर कुछ टाइप करके दिया जाता है उसके अंदर से देख कर आपको कंप्यूटर पर टाइप करना होता है और जो टाइपिंग सॉफ्टवेयर और वेबसाइट होती है उनके अंदर आपको कंप्यूटर की स्क्रीन पर देख कर ही लिखना होता है इसी लिए सॉफ्टवेयर और वेबसाइट पर आपकी स्पीड ज्यादा आती है और टाइपिंग टेस्ट में कम। 

तो चलिए आपको टाइपिंग स्पीड बढ़ाने का एक ऐसा तरीका बताते है जिससे आप किसी भी टाइपिंग टेस्ट को आसानी से पास कर सकते हो। सॉफ्टवेयर और वेबसाइट पर जब आपकी स्पीट 20 से 25WPM आने लगती है उस समय आपको MS Word के अंदर टाइपिंग करनी शुरू कर देनी है। आप किसी अखबार या किसी किताब से देख कर MS Word में टाइप कर सकते है और आपको इस पोस्ट में सबसे निचे लिखा हुआ मिलेगा Typing Test Paper आपको उस पर क्लिक करना है उसके बाद एक फाइल डाउनलोड होगी उसके अंदर आपको कुछ टाइपिंग टेस्ट के पेपर मिलेंगे जिससे आपको पता चल जायेगा की टाइपिंग टेस्ट में किस तरह का पेपर आता है और आप उन पेपर का प्रिंट निकलवा कर और उनके अंदर से देख कर MS Word में टाइप कर सकते हो इससे आपके टाइपिंग टेस्ट की तैयारी और भी अच्छे से हो सकेगी ।

अब देखिये MS Word में टाइप करते समय आप अपनी स्पीड कैसे चैक करोगे तो उसके लिए MS Word में निचे बाईं तरफ कुल शब्द (Total Words) दिखाए जाते है यानि की आपने अभी तक कितने वर्ड टाइप कर लिए है तो जब आप टाइपिंग शुरू करते हो तब आपको समय (Time) देख लेना है देखिये ज्यादा तर टाइपिंग टेस्ट में आपको 10 मिनट का समय दिया जाता है तो आपको भी 10 मिनट के हिसाब से टाइपिंग टेस्ट की तैयारी करनी है तो MS Word में टाइप शुरू करने से पहले समय देख लीजिये और 10 मिनट होते ही टाइप करना रोक दीजिये उसके बाद MS Word में निचे बाईं तरफ देखिये की टोटल कितने वर्ड (Total Words)  दिखा रहा है और उन टोटल वर्ड से आप अपनी टाइपिंग की स्पीड पता कर सकते हो। 


इस तरह से आपको हर रोज टाइपिंग सॉफ्टवेयर और MS Word दोनों में टाइपिंग की तैयारी करनी है इस तरीके से आप अपनी टाइपिंग स्पीड भी बढ़ा सकते हो और टाइपिंग टेस्ट के लिए मजबूत तैयारी भी कर सकते हो और किसी भी टाइपिंग टेस्ट को आसानी से पास कर सकते हो। आपको हर रोज तैयारी करनी है और हां अपनी एक्यूरेसी का खास कर ध्यान रखना है यदि शुरुवात में स्पीड कम आये तो कोई बात नहीं लेकिन गलतिया कम से कम करनी है यदि गलतिया कम करोगे तो आपकी स्पीड धीरे-धीरे अपने आप ही बढ़ने लगेगी। टाइपिंग टेस्ट पेपर डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर के डाउनलोड कर सकते हो।


Download Typing Test Paper In Seconds.

1 comment: